दलित दूल्हे को घोड़ी पर बिंदौली नहीं निकालने की धमकी: समाज ने प्रशासन से मांगी सुरक्षा, समझाईश के बाद ऐतराज नहीं करने का जताया भरोसा

PALI SIROHI ONLINE

जैतारण।रास थाना क्षेत्र के रूपनगर में शादी में दूल्हे की बिंदौली घोड़ी पर नहीं निकालने की धमकी दी गई। इसके बाद समाज ने पदाधिकारियों पुलिस व प्रशासन को लिखित शिकायत कर पुलिस सुरक्षा मांगी। खेड़ा देवगढ़ निवासी सुनील पुत्र बाबूलाल रैगर की शादी 10 मई को रूपनगर मे भपाराम रेगर की लड़की से तय हुई।

सुरक्षा की मांग को लेकर रेगर समाज 44 खेड़ा के अध्यक्ष लूणाराम रेगर की अगुवाई में उपखंड अधिकारी डॉ. भास्कर विश्नोई को ज्ञापन सौंपा।

प्रशासन पहुंचा ग्रामीणों के बीच

एसडीएम डॉ. भास्कर विश्नोई व डीएसपी सुखराम विश्नोई सहित तहसीलदार निरभाराम कोड़ेचा रूपनगर गांव पहुंच ग्रामीणों बातचीत की। ग्रामीणों ने बताया कि गांव बसने के बाद किसी भी जाति के लोगों ने घोड़ी पर बिंदौली निकालने की प्रथा नहीं बताया गया। प्रशासन शान्ति व्यवस्था को लेकर मुस्तैद हो गया।

क्षेत्र के खेड़ा देवगढ़ गांव के दुल्हे की रास थाना क्षेत्र के रूपनगर गांव मे 10 मई को बारात जाने व गांव में बारात की बिंदौली घोड़ी पर निकालने की बात को लेकर ग्रामीणों के विरोध का मामला ध्यान में आया। जिसको लेकर रूपनगर गांव के ग्रामीणों की शान्ति वार्ता की बैठक लेकर ग्रामीणों से समझाईश की गई। जिस पर ग्रामीणों ने गांव में दुल्हे की बिंदौली निकालने पर कोई ऐतराज नहीं करने का भरोसा दिलाया।