विधायक ने कहा मैं खुद परेशान हूं, टैंकर मंगाकर पी रहा हूं पानी

PALI SIROHI ONLINE

पेयजल समस्या को लेकर जनप्रतिनिधियों के निशाने पर रहे अधिकारी जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति की बैठक,आमजन से जुड़ी समस्याएं निस्तारित करने के निर्देश
अजमेर. जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की सासंद भागीरथ चौधरी की अध्यक्षता में रीट सभागार में आयोजित बैठक हंगामेदार रही। जिले में पानी की समस्या को लेकर जलदाय विभाग के अधिकारी जनप्रतिनिधियों के निशाने पर रहे। सांसद ने बीसलपुर से आवंटित पानी की मात्रा बढ़ाने के प्रस्ताव तैयार करने को कहा। चकवा-चकवी गांवों में टैंकर से पानी भेजने के साथ हर घर -हर घर जल योजना के लक्ष्यों को समय पर पूर्ण करें। चौधरी ने बैठक में दिए गए निर्देशों की अनुपालना रिपोर्ट सात दिन में भेजने के निर्देश दिए।

विधायक ने कहा टैंकर मैं खुद मंगवा रहा हूं

विधायक वासुदेव देवनानी ने कहा कि उनका घर फिल्टर प्लांट के पास होने के बावजूद प्रेशर से पानी नहीं आता। जो पानी आ रहा है वह भी गंदा है। मजबूरी में पानी के लिए टैंकर मंगवाना पड़ रहा है। विधायक अनीता भदेल ने कहा कि समय पर पानी नहीं आ रहा। जो सप्लाई दी जा रही है वह पर्याप्त नहीं है लोग परेशान हैं। विधायक सुरेश सिंह रावत तथा रामस्वरूप लाम्बा ने क्षेत्र की समस्याओं से अवगत कराया।

जिला कलक्टर अंश दीप ने जिले की प्रगति की जानकारी दी।
एलिवेटेड रोड में आ रही दरारें
सांसद द्वारा स्मार्ट सिटी परियोजना के अधिकारियों से जानकारी लिए जाने पर अधिकारियों ने क्रेशर डस्ट का इस्तेमाल करना बताया। चौधरी ने कहा कि एलिवेटेड रोड में दरारें आ गई हैं। सांसद ने स्वयं जिला कलक्टर व स्मार्ट सिटी के अधिकारियों के साथ एलिवेटेड रोड कार्य का निरीक्षण करने को कहा। थर्ड पार्टी जांचे गुणवत्ता
सांसद ने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों से कहा कि जिले में निर्मित सीसी सड़कों की गुणवत्ता की जांच तृतीय पक्ष द्वारा कराई जाए। इसी प्रकार सेन्ट्रल रोड़ एंड इन्फ्रास्ट्रेक्चर फंड (सीआरआईएफ) के माध्यम से सड़कें बनाने के प्रस्ताव तैयार कर भिजवाएं

टार्गेट था 75 का 100 भेजे
आजादी का अमृत महोत्सव के अन्तर्गत जिले में न्यूनतम 75 अमृत सरोवर बनाए जाएंगे। ये अमृत सरोवर उच्च भराव क्षमता, बाधा रहित आव, सुरक्षित पाल तथा वृक्षारोपण के साथ होंगे। जिले की प्रत्येक पंचायत समिति में कम से कम 10 अमृत सरोवरों के प्रस्ताव तैयार किए जाएं।
अधिकारियों को लिया आड़े हाथ
सांसद ने पशुओं के लिए मुआवजा राशि जारी करने में पंचायतवार भिन्नता को गंभीर मानते हुए अधिकारियों को आड़े हाथ लिया। सांसद ने स्कूलों को क्रमोन्नत करने के साथ कक्षा कक्ष की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए। सांसद ने कहा कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग सभी व्यक्तियों का कोरोना टीकाकरण सुनिश्चित करे। ग्रामीण क्षेत्रों में खेल मैदान से वंचित ग्राम पंचायतों के लिए भी खेल मैदान एवं स्टेडियम स्वीकृत किए जाएं। जिले में जर्जर एवं क्षतिग्रस्त हो चुके राजकीय भवनों का सर्वे कराते हुए गिराया जाए।
जिला परिषद नहीं दे रहा मार्गदर्शन
सरपंचों ने आरोप लगाया कि जिला परिषद के अधिकारी राज्य वित्त आयोग की राशि खर्च करने के लिए मार्गदर्शन नहीं दे रहे हैं इससे राशि खर्च नही हो पा रही है। सांसद ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों को स्वच्छ भारत मिशन के माध्यम से कचरा मुक्त बनाया जाए। ग्रामीण क्षेत्रों में 60 प्रतिशत राशि पेयजल एवं स्वास्थ्य पर खर्च होनी चाहिए। बैठक मे रोडवेज तथा परिवहन विभाग के अधिकारी गैर हाजिर रहे। किसी काम के नहीं अंडरपास बैठक में सांसद ने रेलवे के अधिकारियों से कहा कि रेल अंडरपास को कोई उपयोग नजर नहीं आ रहा है। इसमें पानी भरने की समस्याएं सामने आ रही है।

कर रहे हतोत्साहित

सांसद चौधरी ने कहा कि राज्य सरकार की सोलर पॉलिसी उपभोक्ताओं को हतोत्साहित करने वाली है। उपभोक्ता द्वारा सोलर प्लांट से उत्पादित बिजली की दर 3 रूपए 14 पैसे के बजाय 2 रूपए 14 पैसे करना गलत है। सरकार इस निर्णय को वापस ले।

लोकार्पण में जनप्रतिनिधियों को बुलाएं सांसद ने कहा कि पूर्ण हो चुके विकास कार्यों का लोकार्पण करवाकर आमजन के लिए उपयोग के लिए खोला जाए। शिलान्यास, लोकार्पण एवं शुभारम्भ के कार्यक्रमों में जन प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया जाए।

बैठक में नगर निगम के आयुक्त देवेन्द्र कुमार, जिला परिषद सीईओ मुरारी लाल वर्मा,एडीए सचिवकिशोर कुमार, पंचायत समितियों के प्रधान होनहार सिंह, सम्पत लोढा, सीमा रावत एवं विकास अधिकारी, दिशा के सदस्य विकास सोनगरा, किशन गोपाल दरगढ़,विक्रम सिंह, रिंकू कंवर, महेंद्र सिंह मझेवला, हरिराम बाना,राजेन्द्र विनायका एवं शक्ति सिंह सहित जनप्रतिनिधि एवं समस्त विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।