बैठक: सीएलजी की बैठक में पुलिस ने सभी को दिया एक ही संदेश, सोशल मीडिया पर भ्रामक पोस्ट न करें, फॉरवर्ड करने से बचे

PALI SIROHI ONLINE

रेवदर।प्रदेश हो रही सामुदायिक घटनाओं से सबक लेते हुए . आपसी सौहार्द बनाएं रखने की अपील की

थाना परिसर में एएसपी देवेंद्र शर्मा और थानाधिकारी कपूराराम चौधरी की उपस्थिति में सीएलजी सदस्यों, ग्राम रक्षकों, पुलिस मित्रों व जनसहभागिता सदस्यों की बैठक हुई। बैठक में राज्य में हो रही सामुदायिक घटनाओं की रोकथाम के लिए चर्चा की गई। एएसपी शर्मा ने कहा कि सोशल मीडिया की भ्रामक पोस्ट करने और फॉरवर्ड करने से आपसी सौहार्द बिगड़ता है।

अपने मोबाइल पर आने वाले भ्रामक मैसेज को बिना सोचें समझें फॉरवर्ड न करें। बैठक में सरपंच अजबाराम चौधरी, वार्डपंच मुकेश जोशी, भेरूसिंह, प्रताप राम लौहार, हकमाराम मेघवाल, कसनाराम कुम्हार, अमृतलाल, असरफ जैदी, इकबाल खान, सौरव खान, मेहबूब खान, अयूब रंगरेज, हकमाराम मकावल आदि मौजूद थे।

पिंडवाड़ा डीएसपी जेठू सिंह करणोत की अध्यक्षता में सीएलजी की बैठक हुई। उन्होंने किसी भी प्रकार की माहौल बिगड़ने वाली गतिविधि की जानकारी तुरंत पुलिस को देने की अपील की। थानाधिकारी देवाराम ने भी आपसी सौहार्द बनाए रखने की अपील की। दिनेश पुरोहित ने भारजा में इन दिनों हो रही इलेक्ट्रिक मोटर व केबल चोरी का मुद्दा उठाया। इस मौके पर वासा सरपंच प्रभुराम हिरागर, ईश्वरदास वैष्णव, रामसिंह सिसोदिया, भंवरभाई पुरोहित, नारायणलाल घांची, चंद्रकांत दवे, मोहन, मनोज कुमार उपस्थित रहे।

पुलिस थाना परिसर में एएसपी देवेंद्र शर्मा व थानाधिकारी अशोक सिंह की उपस्थित में सीएलजी सदस्यों, ग्राम रक्षकों, पुलिस मित्रों व जनसहभागिता सदस्यों की बैठक हुई। वार्डपंच इम्तियाज भाटी ने सड़क पर जमा मिट्टी के कारण हादसे होने की जानकारी दी। पुलिस अधिकारियों ने टोल कर्मचारियों को 10 दिनों में कार्रवाई के निर्देश दिए। इस मौके पर अजाराम चौधरी, सवाराम, कालूराम घांची, नानजीराम देवासी, शकूर खां, ग्राम रक्षक वर्षा दर्जी, राजू भील आदि उपस्थित थे।

पुलिस थाना अनादरा में थानाधिकारी गीता सिंह की अध्यक्षता में सीएलजी बैठक का आयोजन किया। क्षेत्र के सीएलजी सदस्यों ने भाग लिया। थाना अधिकारी ने क्षेत्र में आने वाले अपरिचित लोगों पर नजर रखने व शंका होने पर तुरंत थाने में सूचना देने को कहा। बैठक में जिला शांति समिति सदस्य पृथ्वीराजसिंह, राजेंद्रसिंह सोलंकी, कानाराम मेघवाल, फारुक मोहम्मद वलीखान व धनराज राव मौजूद थे।