सराहनीय पहल: बचपन से था गायों के प्रति सेवाभाव, गोचर पर अतिक्रमण देखा तो 25 लाख की 6 बीघा जमीन गोशाला को दान दी

PALI SIROHI ONLINE

भीनमाल।• धानसा में भामाशाह कोजसिंह ने दी जमीन, अब गोशला का होगा निर्माण, ग्रामीणों ने किया बहुमान

गोचर भूमि पर लगातार अतिक्रमण जैसे मामले सामने आ रहे हैं। धानसा गांव में एक भामाशाह ने अपनी खातेदारी जमीन में से 6 बीघा जमीन गोशाला को दानकर एक मिशाल पेश की। दान की गई जमीन की वर्तमान कीमत 25 लाख रुपए आंकी जा रही है। अब 6 बीघा जमीन पर गोशाला का निर्माण होगा।

यह जमीन धानसा निवासी कोजसिंह राठौड़ ने दी है। राठौड़ ने बताया कि गांव में गोचर भूमि पर कई जगह पर अतिक्रमण होने की वजह से गायों के लिए वर्तमान में गोशाला की जमीन कम पड़ रही थी। वह बचपन से ही गायों के लिए कुछ करने की तमन्ना रखते थे। इसी को लेकर उन्होंने अपनी खातेदारी जमीन में से 6 बीघा जमीन जालंधर नाथ गोशाला सेवा समिति को सुपुर्द करने के बारे में बात रखी। इसके पश्चात गोशाला सेवा समिति ने ग्राम पंचायत, पटवारी की उपस्थिति में 6 बीघा जमीन गोशाला के नाम करवाई।

वीडियो देखे

लाखों की जमीन देने पर भामाशाह का किया सम्मान

जालंधर नाथ गोशाला सेवा समिति के सह कोषाध्यक्ष लीलचंद पटियात ने बताया कि भामाशाह कोजसिंह राठौड़ ने गोशाला के लिए उनकी खातेदारी हिस्सेदारी में से 6 बीघा जमीन गोशाला को सुपुर्द की है। यह जमीन वर्तमान कीमत के आधार पर करीब 25 लाख रुपए की आंकी जा रही है। बेशकीमती जमीन गोशाला के लिए दान करने पर भामाशाह का ग्रामीणों की उपस्थिति में गांव में सम्मान किया गया।

सराहनीय पहल की

गांव में पहले गोशाला के लिए जमीन कम पड़ रही थी, लेकिन भामाशाह द्वारा खातेदारी में से 6 बीघा जमीन देने पर अब विशाल गोशाला का निर्माण हो सकेगा। लाखों की जमीन दान कर भामाशाह ने सराहनीय पहल की है। नरेश बिश्नोई, ग्राम विकास अधिकारी धानसा