माता का भंडारा: 700 लोगों की टीम भोजन बनाने में जुटी, दो मशीनों से एक घंटे में 18 हजार रोटियां बन रही, 5 दिन के खाने पर खर्च

PALI SIROHI ONLINE

जालोर।ढब्बावाली माता मंदिर की प्रतिष्ठा के पांच दिवसीय कार्यक्रम में जुटेंगे ढाई लाख से ज्यादा लोग क्षेत्र के खासरवी गांव में स्थित ढब्बावाली माता मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा धूमधाम से चल रही हैं। पांच दिन तक चलने वाले इस कार्यक्रम में तकरीबन ढाई लाख से ज्यादा लोग भाग लेने वाले हैं। उनके लिए मंदिर परिसर में सुबह-शाम की अलग-अलग भोजन की व्यवस्था भामाशाह द्वारा की जा रही है।

भोजन की व्यवस्था करने के लिए भोजनशाला में करीबन 700 से ज्यादा लोग काम कर रहे है जो पिछले 10 दिन से मंदिर परिसर में खाने की तैयारियों में लगे हुए थे। मंदिर में खाने के लिए जो मीनू दिया गया था। उसके हिसाब से अलग-अलग जगहों से मिठाई के कारीगर बुलाए गए है।

डीसा के कैटर्स अमर सिंह राजपुरोहित ने बताया की मिठाई व नमकीन के लिए 60 कारीगर बीकानेर से बुलाए गए हैं। वहीं रोटी बनाने के लिए 80 लाख रुपए की दो लागत से बनी बड़ी ऑटोमेटिक मशीनें मंगवाई है। जो दोनों मशीनें एक घंटे में 18 हजार रोटी बनाती है।

अलग-अलग शहरों से आए हैं कंदोई भी मंदिर प्रांगण में आयोजित कार्यक्रम के दौरान करीबन सवा करोड़ रुपए में टेंडर गुजरात के डीसा के कैट्स को दिया गया हैं। उनके द्वारा मिठाई बनाने वाले स्पेशल कंदोई 60 बीकानेर ढींगसरी नोखा से बुलाए हैं। उसके अलावा 300 वेटर व 200 महिलाएं सब्जी कटिंग करने के लिए व बर्तन धोने वाले मुंबई से 150 लोगों को बुलाया गया हैं।

तीन करोड़ से ज्यादा का आएगा खाने में खर्च

पांच दिवसीय कार्यक्रम में खाने का खर्च करीबन 3 करोड़ रुपए तक जाने का अनुमान हैं। केटर्स वालों ने बताया की सवा करोड़ रुपए लेबर में खर्च होंगे, जबकि 2 करोड़ के करीबन का राशन का सामान आएगा।