फरार कांस्टेबल की तलाश: रिश्वत लेने के आरोपी कांस्टेबल व शराब तस्कर की तलाश में नागौर पहुंची टीम

PALI SIROHI ONLINE

पाली।सुखराम विश्नोई ने बताया कि आरोपी कांस्टेबल के खिलाफ आनंदपुर कालू थाने में एसीबी टीम को जान से मारने का प्रयास करना, सबूत नष्ट करना व राजकार्य में बाधा पहुंचाने का मामला दर्ज किया गया है। इसके साथ ही एसीबी ने आरोपी के खिलाफ अलग से मुकदमा दर्ज किया है। उन्होंने बताया कि आरोपी कांस्टेबल आशाराम जाटा व उसके साथ बंटी मेवाड़ा की तलाश में एक टीम नागौर भेजी गई। जो आरोपी तलाश में उसके घर तक गई लेकिन फिलहाल उसका कोई सुराग नहीं लगा है।

ज्ञात रहे कि दो माह पूर्व दो बाइक सवारों में टक्कर हो गई थी। इसमें दोनों बाइक सवार घायल हो गए थे। मामले में एक बाइक को बलाड़ा चौकी में तैनात कांस्टेबल आशाराम जाट ने छोड़ दी, लेकिन दूसरी बाइक जब्त कर ली क्योंकि बाइक सवार अपने परिचित से बाइक मांगकर लाया तथा और उसके पास बाइक के कागजात नहीं थे। जब यह बात कांस्टेबल आशाराम के सामने आई तो उसने परिवादी को बाइक चोरी करने के मुकदमे में फंसाने की धमकी देते हुए 20 हजार रुपए की डिमांड की तथा परेशान करने लगा जिस पर उसने एसीबी पाली में शिकायत की।

वीडियो देखे

शिकायत का सत्यापन करवाया गया। तय प्लान के तहत मंगलवार को परिवादी ने आरोपी को 5 हजार रुपए रिश्वत के रूप में दिए तथा 15 हजार गुरुवार को देना तय हुआ। गुरुवार शाम को परिवादी बलाड़ा चौकी 15 हजार रुपए लेकर पहुंचा। तय प्लान के तहत एसीबी की टीम पहले से ही तैयारी थी। चौकी पर ताला लगा होने के कारण परिवादी ने कांस्टेबल आशाराम को कॉल किया तो उसने चौकी के पास ही रुकने का बोलो और अपने दोस्त व शराब तस्कर बंटी मेवाड़ा के साथ उसकी गाड़ी में चौकी पहुंचा। गाड़ी से उतर कर उसने परिवादी से रिश्वत के 15 हजार रुपए लिए। इधर, परिवादी ने एसीबी टीम को इशारा किया, लेकिन कांस्टेबल को इसकी भनक लग गई और व तुरंत गाड़ी में बैठ गया। करीब 140 की स्पीड में उन्होंने गाड़ी दौड़ाई तथा एसीबी टीम पर भी गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया। करीब 10 किलोमीटर तक एसीबी ने उसका पीछा किया लेकिन वे हाथ नहीं आए।