जिला कलक्टर ने ली ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग की समीक्षा बैठक

PALI SIROHI ONLINE

जिला कलक्टर ने ली ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग की समीक्षा बैठक
जालोर 4 मई। जिला कलक्टर निशान्त जैन की अध्यक्षता में बुधवार को ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग की योजनाओं की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई।
बैठक में जिला कलक्टर ने कहा कि महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत जिले की रैकिंग में सुधार हो इसके लिए विशेष प्रयास करने के साथ ही योजना के अंतर्गत चल रहे कार्यो को त्वरित गति से पूर्ण कर लक्ष्यानुरूप प्रगति अर्जित करना सुनिश्चित करें।

उन्होंने महात्मा गांधी नरेगा के तहत रिजेक्टेड भुगतान, पूर्णता दर, 100 दिवस की मजदूरी, जिओ टेगिंग, व्यक्तिगत कार्यों, समय पर भुगतान, मोबाइल मॉनिटरिंग सिस्टम व एनएमएमएस मॉनिटरिंग की समीक्षा करते हुए कहा कि महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत श्रमिकों को 100 दिवस का पूर्ण रोजगार उपलब्ध करवाने के साथ ही तय समय सीमा में मजदूरी का भुगतान किया जावें।

जिले में राज्य सरकार द्वारा जारी अधिकतम मजदूरी प्राप्त हो इस दिशा में प्रयास करने के साथ ही जिले में औसत मजदूरी दर में सुधार आये इसके लिए भी विशेष प्रयास किये जाने की आवश्यता जताई। उन्होंने माह अप्रेल में एमजीनरेगा योजना के तहत कम मानव दिवस सृजन वाले ब्लॉक में लक्ष्यानुरूप प्रगति उपलब्ध करने की बात कही साथ ही भीषण गर्मी को देखते हुए नरेगा कार्य स्थलों पर छाया, पानी एवं उचित चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करने के निर्देश दिये। उन्होंने जिले में जॉब कार्ड के विषय में जानकारी लेते हुए श्रमिक भुगतान को लेकर विकास अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत आवास स्वीकृति कार्य व प्रगति की समीक्षा करते हुए अपूर्ण कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण करने के निर्देश दिये।
उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत व्यक्तिगत शौचालय निर्माण व भुगतान, स्वीकृति सामुदायिक स्वच्छता परिसर (सीएचसी) के निर्माण की प्रगति एवं नवीन प्रस्तावों, ठोस कचरा प्रबंधन के कार्यों, ओडीएफ किये जाने वाले गांवों की प्रगति की समीक्षा के साथ ही एसएलआरएम के अंतर्गत किये जाने वाले कार्यों को एसबीएम 2.0 एप पर इन्द्राज की प्रगति की जानकारी ली वही उन्होंने जन सूचना पोर्टल (ऑफलाइन भुगतान) व बेस लाईन सर्वे 2019 की प्रगति, प्रशासन गांवों के संग अभियान के तहत शौचालय निर्माण व भुगतान की समीक्षा के साथ ही रेट्रोफिटिंग के लिए दिशा-निर्देश प्रदान किये।
उन्हांने राजीविका के तहत संचालित स्वयं सहायता समूह, क्रेडिट लिंकेज प्रोग्राम के बारे में जानकारी लेते हुए विकास अधिकारियों को नियमित रूप से इसकी ब्लॉक स्तरीय समीक्षा बैठक कर मासिक प्रगति जांचने की बात कही। उन्होंने नरेगा के संबंध में प्राप्त परिवादों का तय समय सीमा में उचित निस्तारण करने तथा राजस्थान सम्पर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों व मुख्यमंत्री कार्यालय से प्राप्त शिकायतों की समीक्षा करते हुए कहा कि लंबित चल रहे प्रकरणों का शीघ्र निस्तारण किया जावें। उन्होंने विकास अधिकारियों को कोविड वैक्सीनेशन व मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए विशेष प्रयास कर प्रगति अर्जित करने के निर्देश दिये।
राजीव गांधी जल संचय योजना की बैठक सम्पन्न
कलक्टर ने राजीव गांधी जल संचय योजना के तहत विकास अधिकारियों को इस संबंध में नियमित मासिक बैठक लेने के लिए निर्देशित किया साथ ही डिग्गी निर्माण, टांका निर्माण, मेडबन्दी इत्यादि के संबंध में जलग्रहण एवं भू-संरक्षण विभाग, पंचायतीराज, जल संसाधान विभाग, वन, कृषि, उद्यानिकी, पीएचईडी व भू-जल विभाग द्वारा हुए कार्यों की विभागवार समीक्षा कर प्रगति जांची।

उन्होंने राजीव गांधी जल संचय योजना के तहत चयनित 62 ग्रामों में संचालित हो रहे विभिन्न कार्यों की समीक्षा करते हुए विकास अधिकारियों से समन्वय कर कार्य शीघ्रता से पूर्ण करने के निर्देश दिये।
इस अवसर पर जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी संजय कुमार वासु, वाटरशेड के अधीक्षण अभियंता अरूण कुमार आमेटा, पीएचईडी के अधीक्षण अभियंता ताराचंद कुलदीप, जालोर विकास अधिकारी सांवलाराम, सायला विकास अधिकारी लक्ष्मणसिंह सांदू, विकास अधिकारी सांचौर तुलसाराम, चितलवाना विकास अधिकारी जगदीश विश्नोई सहित विभिन्न अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।