10 मिनट में रेत में रखे पापड़ सिक गए, 47 डिग्री में तपते बॉर्डर पर जवानों ने दिखाया- वे कितने मुश्किल हालात में डटे हैं

PALI SIROHI ONLINE

बीकानेर।पहले जानिए मामला क्या है बीकानेर में भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर जवानों ने गर्मी का प्रचंडता दिखाने के लिए अनूठा प्रयोग दिया। इसका उन्होंने वीडियो भी बनाया वीडियो में दो जवान हाथ में 2-2 कच्चे पापड़ लिए नजर आते हैं। जवानों ने इन पापड़ को रेत में दबाया 10 मिनट बाद रेत हटाकर देखा तो पापड़ सिके हुए थे। जवानों ने एक पापड़ को तोड़कर भी दिखाया।

प्रयोग का मकसद क्या इस वीडियो में एक जवान बोलता है कि वो आम जनता को बताना चाहते हैं कि सीमा पर सैनिक किन विषम परिस्थितियों से जूझते हुए देश सेवा के लिए जुटे रहते हैं। जवानों के लिए भी इस गर्मी में संसाधन जुटाने की अपील की गई है, ताकि उन्हें भी गर्मी से बचाया जा सके। BSF DIG पुष्पेंद्र सिंह का कहना है कि यहां हर बार इतनी गर्मी पड़ती है। हमारे जवानों के हौसले गर्मी से भी ज्यादा सख्त है।

गर्मी का लेवल : पश्चिमी राजस्थान के सभी जिले गर्मी और लू की चपेट में आ गए हैं। बीकानेर में तापमान 47 डिग्री सेल्सियस से ऊपर पहुंच गया है। कई किलोमीटर में फैले रेगिस्तान में शहरों की तुलना में ज्यादा गर्मी पड़ रही है। वहां तापमान रिकॉर्ड करने का कोई साधन नहीं है, लेकिन कई लोगों का अनुमान है कि यहां तापमान 50 डिग्री से ज्यादा हो सकता है।

गर्मी में सेना की क्या तैयारी: बीएसएफ ने जवानों को गर्मी से बचाने के लिए मचान पर कूलर लगा दिए हैं। इससे छह घंटे की सख्त ड्यूटी करने वाले जवान को कुछ देर के लिए आराम मिलता है। ये कूलर हर मचान के पास लगाया गया है, जहां पानी डालने की व्यवस्था भी की गई है। जवानों को इससे काफी हद तक राहत मिली है। इन कूलर्स को चलाने के लिए सोलर सिस्टम लगाया गया है।