अब पानी के उपयोग में मितव्ययता बरतने की जरूरत, क्यों कि 120 घंटे में एक बार आएगा घरों में पानी

PALI SIROHI ONLINE

पाली जिले में इन दिनों पेयजल संकट की स्थिति हैं। पानी की कमी के चलते शहर में आए दिन लोग प्रदर्शन कर रहे हैं। लेकिन पानी की कमी के चलते अब जलदाय विभाग 120 घंटे में पेयजल आपूर्ति करेगा। पहले 96 घंटे में पेयजल आपूर्ति करने का जलदाय विभाग दावा कर रहा था।

जलदाय विभाग पाली के एसई मनीष माथुर ने बताया कि वर्ष 2021 में पर्याप्त बरसात नहीं होने से जवाई बांध एवं अन्य सतही स्त्रोत में उपलब्ध पानी का मितव्ययता से उपयोग में लेने के लिए 25 अगस्त 0221 से शहरी जल योजना पाली की जलापूर्ति 96 घंटे के अंतराल की गई थी। 17 अप्रेल 2022 से पाली में वॉटर ट्रेन से पानी की सप्लाई जोधपुर से आ रही हैं तथा न्यूनतम आवश्यकता अनुसार आपूर्ति की जा रही हैं। वर्तमान में जवाई बांध में डेड स्टोरेज पम्पिंग की द्वितीय स्टेज शीघ्र शुरू करने की स्थिति आ गई हैं तथा बाणियावास बांध में डेड स्टोरेज का उपयोग प्रारंभ किया जा रहा हैं। अब शीघ्र ही पाली शहर की जलापूर्ति वॉटर ट्रेन व स्थानीय भू गर्भीय स्त्रोतों पर निर्भर रहेगी। इसलिए आगामी मानसून तक न्यूनतम पेयजल की आपूर्ति की जाएगी। तथा 2 मई से जलापूर्ति 120 घंटे में एक बार होगी।

आमजन से अपील

जलदाय विभाग के एसई मनीष माथुर ने आमजन से अपील की हैं कि जिले में पेयजल किल्लत को देखते हुए पानी का उपयोग में लापरवाही न बरते। पानी का अपव्यय करने से बचे। स्ना करने के दौरान पानी का कम उपयोग करें। लेट-बॉथ में साफ पानी की जगह कपड़े धोने एवं घर में पोछे लगाने के बाद बचे पानी का उपयोग करें। जिससे पेयजल संकट की इस स्थिति से पार पा सके।