पाली बांगड़ चिकित्सालय में मुख्यमंत्री के जन्मदिन पर नर्सिंग प्रशिक्षणार्थी एवं प्रशिक्षक पक्षीयो के लिए बांधेगें परिण्डे

PALI SIROHI ONLINE

बांगड़ चिकित्सालय में पक्षियों के लिये लगाये जायेगें परिण्डे
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के जन्म दिवस के उपलक्ष्य में होगा आयोजन,नर्सिंग प्रशिक्षणार्थी एवं प्रशिक्षक बांधेगें परिण्डे

पाली। चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग के अंतर्गत पाली जिला मुख्यालय पर राजकीय बांगड़ चिकित्सालय परसिर में संचालित नर्सिंग कॉलेज, जी.एन.एम. प्रशिक्षण केन्द्र तथा ए.एन.एम. प्रशिक्षण केन्द्र के प्रशिक्षणार्थियों एवं प्रशिक्षकों द्वारा मंगलवार को प्रातः 11.30 बजे बांगड़ चिकित्सालय के पीछे की ओर ए.एन.एम. प्रशिक्षण केन्द्र के सामने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के जन्म दिवस के उपलक्ष्य में पक्षियों के लिये परिण्डे लगाये जायेंगें ताकि इस भीषण गर्मी में बेजुबान पक्षियों को जिंदा रखा जा सके तथा इस कार्य के माध्यम से मुख्यमंत्री को विशिष्ट शुभकामनायें प्रेषित की जा सकें।

ए.एन.एम. प्रशिक्षण केन्द्र के प्रधानाचार्य के.सी. सैनी ने बताया कि राजस्थान नर्सिंग कौन्सिल के रजिस्ट्रार डॉ. शशिकांत शर्मा की नूतन पहल पर पाली जिला मुख्यालय पर संचालित नर्सिंग कॉलेज, जी.एन.एम. प्रशिक्षण केन्द्र तथा ए.एन.एम. प्रशिक्षण केन्द्र के प्रशिक्षणार्थियों के साथ नर्सिंग कॉलेज के प्रधानाचार्य झूमरलाल पालीवाल, जी.एन.एम. प्रशिक्षण केन्द्र के प्रधानाचार्य तुलसीराम शर्मा, करणीकृपा नर्सिंग स्कूल के प्रधानाचार्य जेठाराम , नर्सिंग प्रशिक्षक लूसी चाको, जिस्मा जोन, मदनगोपाल वैष्णव, दिनेश कुमार, रमेश कुमार,मुरलीधर शर्मा, विक्रमसिंह, संगीता आसेरी, नीलम बूरिया, जनुज वैष्णव, इन्दु कटारिया, सुमन,पारसमल कुमावत सहित कई कर्मचारी उपिस्थत रहेंगें तथा परिण्डे लगाने में सहयोग करेंगें।

बांगड़ चिकित्सालय में लगाये जाने वाले सभी परिण्डों में नियमित रूप से पानी भरने की व्यवस्था भी नर्सिंग प्रशिक्षणार्थी एवं प्रशिक्षकों द्वारा की जायेगी।

परिण्डा कार्यक्रम की तैयारियों के लिये सोमवार को प्रातः 11 बजे राजस्थान नर्सिंग कौन्सिल के रजिस्ट्रार डॉ. शशिकांत शर्मा एवं भारतीय नर्सिंग टीचर्स एसोसियेशन के प्रदेशाध्यक्ष पुरूषोत्तम कुम्भज के सानिध्य में जूम बैठक आयोजित कर समीक्षा की गई, जिसमें सम्पूर्ण राजस्थान के नर्सिंग क्षेत्र के प्रधानाचार्यों एवं शिक्षकों ने भाग लिया।