बाली-सरकार ग्रामीण और शहरी क्षेत्र के ग्रामीणों में विधूत सप्लाई को लेकर इतना भेदभाव क्यों?

PALI SIROHI ONLINE

पाली जिले में इस साल अप्रैल में पड़ रही भीषण गर्मी में हर किसी को गर्मी के बचाव के लिए बिजली की जरूरत महसूस हो रही है। पर पहले जब विधूत कटौती होती थी तो मोबाइल में sms संदेश से जानकारी आती थी। अब पाली जिले के बाली उपखण्ड में अघोषित विधूत कटौती में भी सरकार सहरी और ग्रामीण उपभोक्ताओं में विधूत सप्लाई में भेदभाव सा रवैया अपनाए हुए हैं।

सहरी क्षेत्र में एक दो घण्टे विधूत कटौती हो रही तो ग्रामीण क्षेत्र में 6 से दस घण्टो तक बिजली कटौती हो रही। जब की सरकार को समजना चाहिए बाली का ग्रामीण अंचल में अत्याधिक साधारण वर्ग रहते है दस प्रतिशत उपभोक्ताओं के घरो में भी मुस्किल से AC होंगे। जब की शहरी क्षेत्र में दुकानों मॉल शोरूम कंपनियो एजेंसियो डीलरो होटल रेस्टोरेंट और उनके कार्यालयों घरो में AC लगे हुए है जो एक घण्टे में करीबन 2 यूनिट बिजली खपत करते है साथ की तेज रोशनी में भी विधूत खपत हो रही यह अनुमान लगाया जाए की सभवतय शहरी क्षेत्र से ग्रामीण क्षेत्र में विधूत खपत आधी होगी फिर भी भेदभाव क्यो?

आज एसडीएम को दिया ज्ञापन
दुगरली के ग्रामीणों ने अघोषित विधूत कटौती से परेशान होकर बाली उपखण्ड अधिकारी धायगुदे स्नेहल नाना को ज्ञापन देकर विधूत समस्या समाधान की मांग की।

ज्ञापन का वीडियो देखे

ग्रामीण क्षेत्र में यह वर्ग हो रहा विधूत कटौती से परेशान

रोजेदार,श्वास पीड़ित और उम्रदराज बजुर्ग,स्कूली छात्र छात्राए जिनके कल से परीक्षा है,किसान जिनकी सुख रही फसल और चारा,गांवो में पेयजल टंकियों में विधूत समस्याओ के चलते पेयजल टंकिया सुखी पड़ी है और गांवो में पेयजल सप्लाई व्यवस्था गड़बड़ा गई है,बैंको में भी विधूत समस्या के चलते इन्वेटर लोड नही उठा रहे,चिकित्सालयों में मरीज परेशान हो रहे इसके अलावा आटा चक्कियों पर भी अनाज समय पर नही पिसा जा रहा चक्की वाले भी एक दो 3 नंबर से विधूत आती है तो नम्बर से पिसाई कर रहे। कसिन्दा कारीगरों की मसीन बन्द होने से विवाह समारोह वालो के लिए डिजाइन करने का काम बन्द पड़ा है। पेट्रोल पम्पो पर भी कहि बार इन्वेटर बन्द होने पर जनरेटर चालू करना मजबूरी बन रही है।

इन्होंने भी उठाया विधूत समस्या मुद्दा

मिरगेश्वर सरपंच छेल सिंह चौहान,चामुंडेरी सरपंच जसवंत राज मेवाड़ा,बीजापुर समाज सेवक योगेन्द्र सिंह राणावत,लुन्दाडा सरपंच जवाराराम मीणा,दुदनी सरपंच प्रतिनिधि करण देवासी,सेना सरपंच मीनाक्षी मीणा,रामपुरा सरपंच कैलाश गरासिया,भाटून्द सरपंच प्रतिनिधि मालाराम देवासी,कोठार पूर्व सरपंच थानाराम प्रजापत,लुणावा समाज सेवक नारायण सिंह चौहान,कोट समाज सेवक हनवंत सिंह चौहान,समाज सेवक भरत ओझा,आमलिया रतन मीणा,सहित विभिन्न जनप्रतिनिधियो समाज सेवको स्थानीय नागरिको ने शहरी क्षेत्र और ग्रामीण क्षेत्र में बराबर विधूत सप्लाई देने की मांग की।