उदयपुर के अमराई घाट पर अवैध वसूली: जिस कम्पनी को ठेका दिया वो पर्यटकों से वसूल रहे हैं 200 रुपए

PALI SIROHI ONLINE

उदयपुर।उदयपुर के अमराई घाट पर टिकट एजेंसी के मनमाने ढंग से पर्यटकों से पैसा वसूलने का मामला सामने आया है। यहां एजेंसी के सुरक्षाकर्मी घाट पर घूमने मात्र के लिए 200 रुपए का शुल्क ले रहे हैं। जबकि इसका शुल्क महज 10 रुपए प्रति व्यक्ति है। हाल ही में देवस्थान विभाग ने प्रवेश के लिए यहां शुल्क प्रक्रिया लागू की है। जिसके अनुसार देशी पर्यटकों को 10 रुपए और विदेशी पर्यटकों को 50 रुपए का शुल्क चुकाना पड़ता है। वहीं घाट पर वीडियो कैमरा ले जाने के लिए 200 रुपए का शुल्क पर्यटकों से लिया जाता है, साथ ही यदि घाट पर प्री-वेडिंग शूटिंग या अन्य किसी प्रकार के इवेंट शूटिंग के लिए 2 हजार रुपए का शुल्क वसूला जाता है।

पर्यटकों को बेवकूफ बना रहे सुरक्षाकर्मी मगर असके विपरीत घाट पर ठेकेदार की ओर से नियुक्त किए गए सुरक्षा गार्ड पर्यटकों से मनमाने ढंग से पैसा वसूल रहे हैं। मंगलवार सुबह कुछ पर्यटक अमराई घाट घूमने आए, सुरक्षा कर्मियों ने उनसे मोबाइल के लिए 200 रुपये प्रति व्यक्ति शुल्क मांगा। साथ ही यह भी कहा कि 10 रुपए का टिकट सिर्फ मंदिर तक जाने के लिए है। उससे आगे जाने के लिए 200 रुपए चुकाने होंगे। वहीं बगैर कैमरा होने के बावजूद पर्यटकों से सिर्फ मोबाइल के लिए यह शुल्क वसूला गया।

अगर कोई गलत पैसा ले रहा तो नियमानुसार कार्रवाई : प्रियंका भट्ट

मामले को लेकर देवस्थान विभाग की असिस्टेंट कमिश्नर प्रियंका भट्ट से बात की तो उन्होंने बताया कि इस तरह की शिकायत आई है। इसे लेकर हमारे इंस्पेक्टर से जांच भी कराई गई है। टेंडर के नियम और शर्तों में दरें स्पष्ट हैं। अगर इन दरों से ज्यादा या गलत तरीके से कोई भी चार्ज वसूला जाता है तो संवेदक के खिलाफ जांच और नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि जयपुर के प्रोपराइटर प्रदीप जोशी की रेडिएंट टूर्स कम्पनी के पास घाट का ठेका है।