बेनीवाल ने पूछा : वसुंधरा सरकार में मंत्री यूनुस ने मंदिर तोड़ा, तब भाजपा नेता मौन क्यों थे ?

PALI SIROHI ONLINE

Hanuman Beniwal यह भी बोले हमारे मुद्दे रोजगार, टोल से मुक्ति, कर्जा मुक्त किसान, जोधपुर में आरएलपी की रैली, उसके बाद मेवाड़ में प्रदर्शन करेंगे

उदयपुर।RLP नेता एवं नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने अलवर के राजगढ़ में मंदिर ध्वस्त करने को लेकर कहा कि ये भाजपा सवाल खड़े कर रही है लेकिन, जब वसुंधरा राजे की सरकार में कई मंदिर टूटे तब ये सवाल क्यों नहीं खड़े किए? उन्होंने कहा कि उस समय के मंत्री यूनुस खान ने सरकारी आवास पर मंदिर तोड़ा लेकिन भाजपा मौन थी। बेनीवाल ने कहा कि प्रदेश की 200 ही सीटों पर आरएलपी चुनाव लड़ेगी और जोधपुर में रैली के साथ मेवाड़ में प्रदर्शन करेंगे।
Hanuman Beniwal मंगलवार को उदयपुर में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राजे सरकार के समय मंदिर तोडऩे को लेकर वे और घनश्याम तिवाड़ी ही बोले थे, बाकी किसी ने सवाल नहीं किए? उन्होंने आरोप लगाया कि तत्कालीन मंत्री यूनुस खान ने अपने सरकारी आवास में मंदिर तोड़ा था लेकिन, कोई नहीं बोला और आज भाजपा इस विषय को लेकर सक्रिय है लेकिन तब क्या हो गया था।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था बिगड़ गई है। महिला अपराध, गैंगरेप बढ़े हैं और राजस्थान यूपी व बिहार से आगे निकल गया है। बिजली कटौती ने जनता को परेशान कर रखा है और किसानों को न तो बिजली मिल रही है और न उनका पूरा कर्जा माफ हुआ है। उन्होंने केन्द्र की मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि पेट्रोल -डीजल में जनता को राहत नहीं दी जा रही है इसे लेकर भी आंदोलन करेंगे।

आरएलपी का रिमोट कन्ट्रोल राजस्थान से ही
बेनीवाल ने कहा कि आरएलपी का रिमोट कन्ट्रोल राजस्थान से ही है, जबकि दूसरी पार्टियों का रिमोर्ट कन्ट्रोल प्रदेश के बाहर उनके मुख्यालयों से है। यहां आरएलपी स्वयं फैसले करती है और वह भी जनता के मुद्दों को सर्वोपरि रखती है। उन्होंने साफ कहा कि भाजपा विपक्ष की भूमिका नहीं निभा सकी।
लोकसभा में मेवाड़ की आवाज बताया स्वयं को
उन्होंने कहा कि मेवाड़ से भाजपा के चार सांसद आते हैं लेकिन, मेवाड़ की आवाज तो वे स्वयं ही उठाते हैं। बेनीवाल ने कहा कि उदयपुर में हाईकोर्ट बैंच की मांग हो या अफीम कृषकों की समस्या हो, उन्होंने ही लोकसभा में उठाई और आगे भी उठाएंगे।

सर्किट हाउस में की जनसुनवाई
बेनीवाल ने सर्किट हाउस में जनसुनवाई की। इस दौरान जिले भर से आए लोगों ने पानी, बिजली, सडक़ों आदि की समस्याएं रखीं। मावली के लोग बागोलिया बांध तक पानी पहुंचाने का मुद्दा लेकर आए तो महाराज की खेड़ी के लोग अतिक्रमण की समस्या को लेकर आए। कुछ छात्र नेताओं ने सुखाडिय़ा विवि के वीसी अमेिरका सिंह को हटाने को लेकर बेनीवाल को ज्ञापन दिया। उन्होंने हाथों हाथ राज्यपाल से बातचीत कर इनकी मांग उनके समक्ष रखी। जन स्वास्थ्य अभियांत्रिक विभाग कॉन्ट्रेक्टर यूनियन के प्रतिनिधिमंडल ने भी ज्ञापन दिया। इस दौरान आरएलपी प्रदेश महामंत्री उदयलाल जाट, जिलाध्यक्ष भैरूशंकर जाट, सहाड़ा के आरएलपी नेता बद्रीलाल जाट, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य श्रवण चौधरी, प्रदेश प्रवक्ता रोहित गुर्जर आदि मौजूद थे।