यात्रीगण ध्यान दें…दक्षिण भारत के प्रमुख तीर्थ स्थानों के दर्शन करने की है तमन्ना तो हो जाएं तैयार

PALI SIROHI ONLINE

जयपुर। दक्षिण भारत की धार्मिक यात्रा की चाह रखने वालों के लिए खुशखबरी है। भारतीय रेलवे के उपक्रम इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन ( आईआरसीटीसी) की ओर से 10 दिवसीय दक्षिण भारत की धार्मिक यात्रा की शुरुआत अगले महीने हो रही है। जानकारी के मुताबिक यह यात्रा एक से 10 मई तक करवाई जाएगी। यात्रा में मल्लिकार्जुन और रामेश्वरम दो प्रमुख ज्योतिर्लिंग शामिल हैं।

संयुक्त महाप्रबंधक पर्यटन विंग जयपुर के मुताबिक धार्मिक यात्रा के लिए स्पेशल ट्रेन एक मई को सुबह 9 बजे जयपुर स्टेशन से रवाना होकर वाया चंडीगढ़, दिल्ली कैंट, रेवाड़ी, अलवर से यात्रियों को लेते हुए जाएगी।
कोरोना प्रोटोकॉल की करनी होगी पालना
सफर के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। इसके साथ ही कोच को सैनिटाइज किया जाएगा। इस यात्रा के दौरान नाश्ता, भोजन, गंतव्य स्टेशन पर धर्मशाला में रहने और स्टेशन से धर्मशाला तक बस से लाने और ले जाने की व्यवस्था आईआरसीटीसी की ओर से की जाएगी। इसके अलावा एक गाइड भी यात्रियों की सुविधाओं का ध्यान रखने के लिए साथ में भेजा जाएगा। जयपुर से 550 से ज्यादा यात्रियों ने टिकट अब तक बुक करवाए हैं। यात्रा के बदले एलटीसी क्लेम कर भी यात्री कर सकते हैं, जिसके लिए रेलवे यात्रा खत्म होने के बाद सर्टिफिकेट जारी करेगा।

सालभर बाद हो रहा है संचालन
कांचीपुरम रामेश्वरम, मदुरई, त्रिवेंद्रम, कन्याकुमारी, तिरुचिरापल्ली और मल्लिकार्जुन की दक्षिण भारत यात्रा स्पेशल ट्रेन लगभग सालभर बाद फिर से संचालित की जा रही है। बीते साल कोरोना के चलते यात्रा नहीं हो पाई। इसके साथ ही अन्य धार्मिक यात्रा ट्रेनों को भी शुरू नहीं किया गया था। एक बार फिर से धार्मिक पर्यटन के लिहाज से यह कवायद की है। इसके लिए अलग—अलग शुल्क रखा गया है।