पाली राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती वर्ष एवं स्वतंत्रता की वर्षगांठ कार्यक्रम

पाली राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष एवं स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ के क्रम में मंगलवार को शहीद दिवस गरिमा मय उपस्थिति में मनाया गया। इस मौके पर जिले व ब्लाॅक स्तर पर अंहिसा यात्रा निकालने के बाद शहीदों की स्मृति में दो मिनट का मौन रखकर देश के प्रति उनकी और से दिए गए बलिदान को याद किया गया।
जिला मुख्यालय पर आयोजित मुख्य कार्यक्रम के तहत जिला कलक्टर अंश दीप ने मंगलवार शाम कलेक्ट्रेट से अंहिसा यात्रा को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। अंहिसा यात्रा में गांधीवादी विचारक, स्काउट व गाईड, एनएसएस, एनसीसी, खादी एवं महिला संगठन, युवा संगठन तथा गैर सरकारी संगठनों के कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी शामिल हुए। अंहिसा यात्रा के दौरान कोरोना प्रोटोकाॅल की पालना सुनिश्चित की गई। यात्रा में शामिल प्रतिभागी हाथों में तख्तियां लेकर शहीदों एवं महान देशभक्तों के प्रति श्रदा एवं कृतज्ञता का संदेश दे रहे थे। तख्तियों पर बुरा मत कहों, बुरा मत सुनो, बुरा मत देखा, जल ही जीवन, बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं एवं देशभक्ति से ओतप्रोत नारे लिखें हुए तख्तियां हुए चल रहे थे। रैली कलेक्ट्रेट से रवाना होकर शहर के मुख्य मार्गो से होते हुए शहीद स्मारक तक पहुंची। यहां पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई।
जिला कलक्टर ने बताया कि स्वतंत्रता की 75वीं वर्ष गांठ पर आजादी का अमृत महोत्सव के तहत 12 मार्च 2021 से 15 अगस्त 2023 तक जिले, उपखण्ड़ एवं ग्राम पंचायत स्तर पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इसके तहत 12 मार्च को दांडी मार्च दिवस का आयोजन किया गया था। इसी कड़ी में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती से संबंधित कार्यक्रमों के क्रम में मंगलवार को शहीद दिवस पर भगतसिंह, राजगुरू एवं सुखदेवसिंह को याद करते हुए अंहिसा यात्रा एवं मौन कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिससे देश की आजादी में अपना सर्वस्व न्यौछावर करने वाले महान देशभक्तों के प्रति आमजन के मन में कृतज्ञता का भाव पैदा हो। साथ ही महात्मा गांधी के जीवन दर्शन से सीख लेकर आम नागरीक स्वच्छता व सामान्ता के प्रति जागरूक हो।


कार्यक्रम के तहत सभी उपखण्ड स्तर पर भी मंगलवार शाम 6 बजे से 6ः45 बजे तक युवाओं द्वारा अंहिसा यात्रा निकालकर शहीदों को श्रदांजलि दी गई। इसके बाद शाम 7 बजे दो मिनट का मौन रखकर देश के लिए उनकी और से दिए गए बलिदान को याद किया गया। इस दौरान युवा वक्ताओं की और से देशभक्ति व शहीदों पर व्याख्यान के साथ देशभक्ति गीतों का आयोजन हुआ।
कार्यक्रम में समाजसेवी महावीरसिंह सुकरलाई, अजीज दर्द, महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति के जिला सह संयोजक जीवराज बोराणा, आमीन अली रंगरेज, प्रकाश सांखला, मोहन हटेला, अतिरिक्त जिला कलक्टर चन्द्रभानसिंह भाटी, जिला शिक्षा अधिकारी जगदीशचन्द्र राठौड़, जिला सूचना एवं जनसपंर्क अधिकारी वेदप्रकाश आशिया, नगर परिषद आयुक्त बृजेश राय, शिक्षा विभाग के अधिकारियों समेत प्रशासनिक अधिकारी एव प्रबुद्धजन मौजूद रहे।