फालना कस्बे में कानसिंह सिसोदिया की सनसनीखेज हत्याकांड में शामील दो आरोपी गिरफतार

फालना कस्बे में कानसिंह सिसोदिया की सनसनीखेज हत्याकांड में शामील
दो आरोपी गिरफतार
निवेदन है कि श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय जिला पाली श्री कालुराम रावत आईपीएस के आदेशानुसार श्रीमान अति. पुलिस अधीक्षक महोदय बाली श्री बृजेश सोनी के निर्देशन तथा श्री हिमांशु जांगिड आरपीएस वृताधिकारी वृत बाली के निकटतम सुपरविजन में पुलिस थाना फालना में हत्या के दर्ज मामले में शेष मुलमिजानो की गिरफतारी के आदेश पर मन् अमराराम उनि थानाधिकारी पुलिस थाना फालना मय गठीत टीम द्वारा उतरप्रदेश राज्य के अलीगढ जिले में पिचावा थानाधिकारी मय एसओजी टीम अलीगढ की सयुक्त कार्यवाही कर मृतक कानसिंह की हत्या से पुर्व मोटरसाईकल पर रैकी करने वाले आरोपी जुबैर जई व धर्मेश उर्फ कालु को अलीगढ जिले के पिचावा कस्बे से गिरफतार किया गया।

घटना सांराशः- दिनांक 20.08 20 को श्री मदनसिंह पुत्र घीसुसिंहजी जाति रावणा राजपुत उम्र 26 साल पेशा व्यापार निवासी विजयनगर फालना पीएस फालना ने पीएचसी खुडाला फालना पर उपस्थित होकर इस आश्य की रिपोर्ट पेश की आज करीब दिन मे 11.30 बजे के आस पास की बात है मेरा भाई कानसिंह अपने मित्र प्रदीपसिंह के साथ साण्डेराव रोड पर खालसा पट्रोल पंप से आगे शिवम टी स्टोल पर बैठे थे। मै निम्बेश्वर महादेव की तरफ जा रहा था तभी निम्बेश्वर महादेव की तरफ से एक मोटरसाईकिल पर दो व्यक्ति आये व मोटरसाइकिल से निचे उतर कर दोनो ने रिवाल्वर से अनुसंधान प्रार्थी के भाई पर फायर किये व दुकान के शटर पर भी फायर किये। जिससे प्रार्थी का भाई निचे गिर गया जिसे अस्पताल ले गये जहां उसको मृत घोषित किया गया। इस घटना के समय वहां पर प्रार्थी के भाई के साथ उसका मित्र प्रदीपसिंह, विजेन्द्रसिंह, आबिद व होटल वाला, मै व अन्य लोग भी मौजुद थे। जिन्होन घटना देखी। दोनो मोटरसाईकिल वाले फायर कर फालना की तरफ मोटरसाईकिल पर बैठ कर भाग गये। वगैरा रिपोर्ट पर मुकदमा नम्बर 119 दिनांक 20.08.2020 धारा 143,302/34,120बी भादस में दर्ज कर अनुसंधान शुरू किया गया।

कार्यवाही पुलिसः- प्रकरण दर्ज होने के बाद पुलिस टीम द्वारा बीटीएस लोकेशन, एवं साईबर टीम द्वारा व सीसीटीवी फुटेज का अवलोकर करते हुये कानसिंह की हत्या का मुख्य आरोपी
सुपारी देने वाला भरत वैष्णव एवं सहयोगी ईश्वरसिंह को पुर्व में गिरफतार किया गया। उक्त मुलजिमानो द्वारा उक्त वारदात अरविन्दकरणसिंह, जुबैर जई, धर्मेश उर्फ कालु व अन्य साथियो द्वारा सुपारी लेकर कानसिंह की हत्या करवाना ज्ञात होने के बाद उतरप्रदेश में कही छीपे होने की मुखबिरी पर एसओजी उतरप्रदेश से वृताधिकारी श्रीमान हिमाशु जांगिड व मन् थानाधिकारी अमराराम लगातार सम्पर्क कर पुख्ता सुचना प्राप्त होने पर पुलिस थाना फालना की टीम व एसओजी अलीगढ व अलीगढ जिले की थाना पिचावा की टीम की सहायता से तलाश करते हुये आरोपी जुबैर जई व धर्मैश उर्फ कालु को दस्तयाब कर बाद पुछताछ जुर्म स्वीकार करने पर गिरफतार किये गये। घटना मे शामील अन्य लोगो के बारे में गहनता से पुछताछ जारी हैं।

गिरफतारशुदा मुलजिमानः- 1. जुबैर जई पुत्र श्री मुर्तजा खां जाति जई मुसलमान उम्र 19 साल निवासी वर्धमान कॉलोनी बडगांव रोड शिवगंज थाना शिवगंज जिला सिरोही

  1. धर्मेश उर्फ कालु पुत्र केसारामजी जाति गमेती भील उम्र 23 साल पैशा मजदुरी निवासी डांग फली भीमाणा पुलिस थाना नाना जिला पाली।

टीमः-

  1. अमराराम उनि थानाधिकारी पुलिस थाना फालना जिला पाली।
  2. श्री सुरेन्द्रसिंह एचसी 263 थाना फालना।
  3. श्री आसुराम कानि 108 थाना फालना।
  4. श्री जयसिंह कानि 156 थाना फालना।
  5. श्री मुकेश कुमार कानि 1696 थाना फालना।
  6. श्री लीलाधर कानि न 477 थाना फालना।
  7. श्री प्रमोदसिंह कानि 1210 थाना फालना।

सहयोगी टीमः-

  1. श्री राजेन्द्रसिंह एचसी 04 थाना फालना।
  2. श्री गौतम आचार्य एचसी साईबर सैल पाली
  3. श्री प्रवीण चौधरी कानि 308 थाना फालना।
  4. श्री हंसाराम कानि 51 थाना फालना।( कॉल डिटेल विशलेषण)
    नोटः- एसओजी अलीगढ टीम व पुलिस थाना पीचावा की टीम का विशेष सहयोग रहा।

तरीका वारदातः- सम्पुर्ण घटना का मास्टर माइण्ड अरविन्दकरणसिंह एक महत्वकाशी शख्स है
जो गलत तरिको से रूपये कमा कर अपनी एक गैंग सुमेरपुर शिवगंज में खडी करना चाहता था। वह हर रोज धर्मा जैसे अनपढ व गरीब लडको से मिलता था। व उनको पैसो का लालच देकर अपराध की दुनिया के सपने दिखा कर ब्रेन-वॉच करता था। जुबैर जई के पिता नही हैं। माता ने दुसरी जगह शादी कर रखी हैं। व धर्मा गरीबी के कारण इनके चगुल में आया। अरविन्दकरण ने जुबैर जई को फालना कस्बे के प्रत्येक मार्ग की रैकी करने व सुरक्षित रास्ता तय करने की जिम्मेदारी दी। जबकी धर्मेश को कानसिंह के दुकान के आस-पास हर एक हरकत व आने जाने वालो पर नजर रखने का जिम्मा दिया। दोनो ने लगभग 15 दिन तक पुरे फालना कस्बे व कानसिंह के दुकान के आस-पास रैकी की। हर रोज की सुचना अरविन्दकरण कभी फालना तो कभी ईश्वरसिंह की होटल पर लेता था। इस प्रकार घटना के दिन दो मोटरसाईकल पर सभी आये। नोबल स्कुल फालना के सामने रोड पर योजना बनाई सभी को अलग-अलग काम दिया व बाद घटना के अलग-अलग रास्तो से ईश्वरसिंह की होटल मिलने की बात करके जुबैर जई व धर्मेश कानसिंह की निगरानी हेतु शिव टी स्टॉल फालना पर गये जहा कानसिंह अपने दोस्तो के साथ बैठा था। वहा से जुबैर जई व धर्मेश वापस नोबल स्कुल फालना के पास वापस आकर अपने साथ आये अन्य दो व्यक्तियो को यह बात बता कर वहा से निकलकर जादरी रोड पर नदी के किनारे रूक गये। तब पल्सर सवार अन्य दो व्यक्तियो ने हुलिये के आधार पर कानसिह को गोली मार कर भाग गये।

विशेष :- उक्त टीम का कार्य सराहनीय होने से हौसला अफजाई हेतु प्रशंसा पत्र मय नकद
ईनाम हेतु अनुशंषा की जायेगी।