बाली, सोजत, जैतारण, सुमेरपुर, मारवाड जंक्शन, देसूरी, बर, सादडी एवं रानी में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जायेगा

PALI SIROHI ONLINE

पाली, 08 जुलाई। माननीय राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर के निर्देशानुसार 10 जुलाई 2021 को श्री एम. आर. सुथार अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण (जिला एवं सेशन न्यायाधीश), पाली के मार्गदर्शन में जिला न्यायालय परिसर एवं तालुका विधिक सेवा समिति बाली, सोजत, जैतारण, सुमेरपुर, मारवाड जंक्शन, देसूरी, बर, सादडी एवं रानी न्यायालय परिसर में न्यायालयों में लंबित विभिन्न प्रकृति के प्रकरणों एवं प्रि-लिटिगेशन विवादों से संबंधित प्रकरणों की राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जायेगा।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण (अपर जिला न्यायाधीश) सचिव आरिफ मोहम्मद खान चायल ने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत में दाण्डिक शमनीय अपराध, धारा 138 एनआई एक्ट के अपराध, बैक रिकवरी मामले, एमएसीटी, श्रम विवाद के मामले, पानी व बिजली के बकाया बिलों सम्बंधित मामले, वैवाहिक विवाद, भूमि अधिग्रहण मामले, वेतन भत्ते और पेंशन लाभ से सम्बंधित मामले के साथ अन्य सिविल मामले रखे जा सकते है तथा आपसी राजीनामें में प्रकरणों को अधिक से अधिक निस्तारित किया जा सकते है। पक्षकारान् लोक अदालत से पूर्व भी न्यायालय में आकर अथवा आॅनलाईन माध्यम से संबंधित प्रकरणों में राजीनामा करवा सकते है।

सचिव चायल ने बताया कि न्यायिक अधिकारीगण को राष्ट्रीय लोक अदालत हेतु अधिकाधिक प्रकरणो को चिन्हित कर प्रकरणों में शीघ्रातिशीघ्र पक्षकारों को राष्ट्रीय लोक अदालत हेतु सूचित किये जाने बाबत् निर्देश दिये गये है। श्री एम.आर. सुथार, अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण ने जिले के समस्त पीठासीन अधिकारियों को निर्देशित किया कि समझौतों के तत्व विद्यामान होने की दशा में आगामी राष्ट्रीय लोक अदालत से पूर्व पक्षकारों के साथ प्रि-काउंसलिंग वार्ता की जावें।

प्रकरण को राष्ट्रीय लोक अदालत में रखे जाने हेतु प्रकरण के उभयपक्षों के अधिवक्ताओं को भी अवगत करवाया गया है एवं अधिवक्ताओं से समुचित सहयोग लिया जा रहा है।
उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत के लिए पाली न्यायक्षेत्र में कुल 22 बैंचों का गठन किया गया है, जिनमें सें जिला मुख्यालय पर प्रकरणों के निस्तारण हेतु 07 लोक अदालत बैंचो का गठन किया गया, जिसमें से 06 बैंचे न्यायालय में लंबित प्रकरणों के निस्तारण एवं 01 बैंच प्री-लिटीगेशन प्रकरणों के निस्तारण के लिये गठित की गई है।

जिला मुख्यालय पर श्री एम.आर. सुथार, जिला एवं सेशन न्यायाधीश पाली, श्रीमति रेखा भार्गव, न्यायाधीश पारिवारिक न्यायालय पाली, श्री मुकेश भार्गव न्यायाधीश, मोटरयान दुर्घटना दावा अधिकारण, पाली, श्री आरिफ मोहम्मद खान चायल, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, श्री विवेक शर्मा, मुख्य न्यायिक मजिस्टेªट, पाली, श्रीमति मौनिका चैधरी, विशिष्ठ न्यायिक मजिस्टेªट (एन.आई.एक्ट प्रकरण), श्रीमति इन्दु फिडौदा, न्यायिक मजिस्ट्रेट, पाली की अध्यक्षता में 07 बैन्चों का गठन किया गया। उक्त 07 बैन्चों के अध्यक्ष एवं सदस्यों द्वारा न्यायालय में लंबित राजीनामा योग्य प्रकरणों एवं बैंकों/वित्तिय संस्थानों एवं दूरसंचार विभाग के प्रि-लिटिगेशन प्रकरणों में समझाईश कर राजीनामा का प्रयास करवाया जायेगा।

इसी प्रकार ताल्लुका विधिक सेवा समिति, बाली, सोजत, जैतारण, सुमेरपुर, देसूरी, बर, मारवाड जंक्शन, सादडी, रानी मुख्यालय पर भी कुल 15 लोक अदालत बैंचों का गठन किया गया है, जो कि प्रकरणों का राजीनामा द्वारा निस्तारण का प्रयास करेंगी।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव ने बताया कि दिनांक 10 जुलाई 2021 को आयोजित होने वाली राष्ट्रीय लोक अदालत में सम्पूर्ण पाली न्यायक्षेत्र में न्यायालय में लंबित एवं प्रि-लिटिगेशन के कुल 6387 प्रकरण, जिनमें 5219 न्यायालय में लंबित प्रकरण एवं 1168 प्रि-लिटिगेशन प्रकरणों में बैंचों द्वारा राजीनामा का प्रयास किया जायेगा।