पुलिस व जनता के बीच समन्वय होगा तो अपराध होंगे कम : एसपी धर्मेंद्र सिंह

PALI SIROHI ONLINE

महेंद्र सिंह परमार

नागाणी//सिरोही के पुलिस अधीक्षक धर्मेंद्र सिंह यादव इन दिनों हर थाने में जनता को आमंत्रित कर उनसे सीधा संवाद कर उस क्षेत्र की अपराध के बारे में जानकारी हासिल कर रहे है । इसी कड़ी में आज उन्होंने कृष्णगंज पुलिस चौकी में जन संवाद मीटिंग में कहा कि पुलिस व आम जनता के बीच अच्छा कोर्डिनेशन होना चाहिए और पुलिस से अपराधी डरने चाहिए । उन्होंने कहा कि जनता व पुलिस के बीच सम्पर्क मजबूत बनाने के लिए पुलिस मुख्यालय लगातार अनेक योजना बना रहा है और फील्ड में लगे अफसर व सिपाही उन योजनाओं को धरातल पर उतारने में लगा हुआ है ।

उन्होंने इस क्षेत्र में किंस तरह के अपराध होते है और उनको कैसे रोका जावे ओर इसमे पुलिस व जनता को क्या करना है का फीड बेक लिया । ग्रामीणों ने बताया कि इसरा चौकी को एक्टिव रखा जावे ओर कृष्णगंज चौकी को पुलिस वाहन उपलब्ध करवाया जावे ताकि निरन्तर गश्त के माध्यम से अपराध पर कड़ी नजर रखी जा सके । उन्होंने ग्राम रक्षको को भी सक्रिय होने का आग्रह किया और उनसे पूछा कि उनका पुलिस व जनता के बीच क्या रोल है ।

सभी ग्रामीणों की ओर से एस पी साहब का गुलदस्ता भेंटकर पावापुरी ट्रस्ट के मैनेजिंग ट्रस्टी महावीर जैन ने व वाडेली के जननेता लुम्बाराम जी चौधरी ने माला पहनाकर स्वागत किया जैन ने अनेक सुझाव रखते हुए अनादरा में महिला को थानेदार लगाने का स्वागत किया उन्होंने अनादरा व सिरोड़ी में आम सड़क पर वाहन खड़े कर रास्ता रोकने से होने वाले एक्सीडेंट की तरफ ध्यान दिलाया ओर कहा कि थाने में अपराधियो को किसी तरह का सरक्षंण नही मिलना चाहिए और अपराधी थाने में आने से घबराना चाहिए तभी जनता व पुलिस का सम्पर्क मजबूत हो सकेगा ।

इस अवसर पर ग्रामवासियों ने गाव की मुख्य सड़क के सभी चौराहों पर जनसहयोग से कैमरे लगाने का फैसला लिया । मीटिंग में कृष्णगंज के अध्यक्ष,सरपंच ,वाडेली के ग्रामसभा अध्यक्ष ,व्यापारी, समाजसेवी व सभी जाति व धर्मो के लोगो ने बड़ी संख्या में भाग लिया व दिल की बात एस पी के समक्ष रखी व चौकी के स्टाफ के कार्यो व ततपरता की सराहना की। ग्रामवासियो ने नई थानेदार श्रीमती गीतासिह का भी स्वागत किया । थानेदार ने थाने व चौकी की पूरी जानकारी दी । ग्रामीणों ने चौकी को थाना बनाने की मांग की तो एस पी ने कहा कि ये फैसला राज्य स्तर पर होता है फिर भी वे थाने के जो मापदंड है उनको दिखवा कर आपकी भावनाओं को राज्य सरकार तक भेज देंगे ।

उन्होंने रात्रि में ही इसरा चौकी की विजिट कर उसकी उपयोगिता की समीक्षा करेंगे ।