नहर में गिरी जीप, तीन के शव बाहर निकाले,हर कोई दुःखी

PALI SIROHI ONLINE

मातम में बदली खुशियां, सगाई समारोह में शामिल होने जा रहे थे जीप सवार, नहर में गिरी जीप, तीन के शव बाहर निकाले हनुमानगढ़. टाउन पुलिस थाना क्षेत्र के गांव रणजीतपुरा के पास इंदिरागांधी नहर के 50 आरडी पुल के पास रविवार को एक जीप संदिग्ध तरीके से नहर में गिर गई। जीप में एक ही परिवार के पांच लोग सवार थे। सूचना पर टाउन पुलिस मौके पर पहुंची और डूबे लोगों की तलाश शुरू करवाई। इसमें दोपहर दो बजे तक तीन शव बाहर निकाल लिए गए। जीप चालक हरीश पुत्र गोपीराम (४२) निवासी भूरानपुरा व एक अन्य जने की तलाश देर शाम तक जारी रही।

जबकि दोपहर में हरीश की पत्नी सुमन (३८), बेटी मीनाक्षी (१४) व उसके भाई प्रेम की बहू मंजू (३२) का शव बाहर निकाल लिया गया। जीप में उक्त लोगों के साथ हरीश का बेटा मनीष (०७) भी सवार था। टाउन पुलिस ने तीनों शवों को नहर से बाहर निकलवा कर पोस्टमार्टम के लिए जिला चिकित्सालय में रखवाया। देर शाम को परिजनों की रिपोर्ट पर मर्ग दर्ज करने के बाद पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया। रणजीतपुरा निवासी इंद्रजीत शर्मा ने बताया कि जीप सवार सभी लोग गांव नौरंगदेसर में किसी रिश्तेदारी में जा रहे थे। रास्ते में घटना घट गई। जानकारी के अनुसार सुमन व मंजू दोनों का ससुराल एक ही जगह था। घटना किस वजह से हुई, इसके बारे में जांच पूरी होने के बाद ही पता चल सकेगा। घटना को लेकर प्रत्यक्षदर्शी अलग-अलग तरह की बातें बता रहे हैं।

पूरा परिवार खत्म जीप के नहर में गिरने से चालक हरीश का पूरा परिवार खत्म हो गया। उसकी भाभी की भी मौत हो गई। जानकारी के अनुसार गोपीराम के तीनों पुत्रों हरीश, चेतराम व प्रेम की शादी एक ही घर में हुई थी। रविवार को हरीश अपने ससुराल नौरंगदेसर के पास स्थित ढाणी में साले के सगाई समारोह में शामिल होने के लिए अपनी पत्नी बच्चों व भाभी के साथ हंसी-खुशी रवाना हुआ था।

रास्ते में पुल के पास हादसा हो गया। टाउन थाना प्रभारी लक्ष्मण सिंह ने बताया कि जीप चालक हरीश के मामा अमीचंद पुत्र खिराजराम जाति जाट निवासी तीन केसएसपी टिब्बी ने इस घटना को लेकर थाने में मर्ग दर्ज करवाई है। इसमें बताया है कि जीप सवार सभी लोग नौरंगदेसर के लिए रवाना हुए। पुल के पास जीप नहर में गिर गई। टाउन पुलिस ने मामला दर्ज करके जांच शुरू कर दी गई है। अभी तक तीन शव बाहर निकाले गए हैं। बाकी दो की तलाश जारी है। हरीश परिवार सहित खेती का कार्य करता था।इन्होंने बाहर निकाले शव जीप के नहर में गिरने के बाद आपदा प्रंबंधन टीम ने मौके पर पहुंचकर डूबे लोगों की तलाश शुरू की। शाम साढ़े सात बजे तक टीम ने तीन लोगों के शव बाहर निकाले। इसके बाद अंधेरा होने के कारण सभी नहर से बाहर निकल आए। अब सोमवार को फिर टीम नहर में बाकी बचे दो लोगों की तलाश करेगी।

टीम में गोताखोर मुन्ना सिंह, बलकार सिंह, सुखचरण सिंह, हरीश कुमार, गोविंद सिंह, लखूवाली के स्थानीय गोताखोर जुगल कुमार, किस्मत अली, रमेश कुमार, संदीप, प्रतीक कुमार व अन्य ने शवों को बाहर निकाला।लखूवाली हेड पर फंसने की आशंका नहर में जीप गिरने के बाद उसे तलाशने का कार्य कुछ देर बाद ही शुरू कर दिया गया। इसमें जीप सहित तीन शव बाहर निकाल लिए गए। जबकि दो लोगों की तलाश जारी है। गोताखोरों का कहना है कि लखूवाली हैड के पास दोनों के बॉडी मिल सकते हैं। करीब पांच किलोमीटर तक गोताखोरों ने शवों को ढूंढऩे का प्रयास किया।