भारी बारिश_कोटा बैराज बांध के दो गेट खोले गए,बांध से हो रही 5 हजार क्यूसेक पानी की निकासी

PALI SIROHI ONLINE

कोटा। प्रदेश के चम्बल में बने बांधों में पानी की आवक बढ़ी। जवाहर सागर से 35 हजार क्यूसेक पानी की आवक हो रही है। इसे देखते हुए कोटा में चम्बल पर बने बांध कोटा बैराज के भी दो गेट खोल दिए गए हैं। इनसे 5 हजार क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है।

कोटा के हाड़ौती में मानसून मेहरबान है। नदियां-तालाब, बांध लबालब हो चुके है। कोटा, बारां, झालावाड़ व बूंदी में शनिवार रात से शुरू हुई कभी तेज तो कभी रिमझिम बारिश का दौर सोमवार सुबह तक तक चलता रहा।

बारिश के चलते चम्बल नदी के बांधों में पानी की आवक बढ़ गई है। जवाहर सागर से हो रही 35 हजार क्यूसेक पानी की आवक हो रही है। इसे देखते हुए कोटा में चम्बल पर बने बांध कोटा बैराज के भी दो गेट खोल दिए गए हैं। इनसे 5 हजार क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है।

वहीं ग्रामीण इलाकों में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। खेत जलमग्न हो गए। घरों में पानी घुस गया। कई कच्चे मकान गिर गए। कई जगहों पर आवागमन अवरुद्ध हो गया।

कोटा के पूनम कॉलोनी में सीवरेज कार्य के कारण मिट्टी धंस गई। बारां जिले के छबड़ा में हिग्लोट बांध छलक गया। इस पर 10 सेंटीमीटर की चादर चली। इसकी भराव क्षमता 6.70 मीटर है। बारां के फोरेस्ट नाला व बाणगंगा नदी लबालब हो गए।