पाली में सावर्जनिक स्थानों पर धूम्रपान करने वालों का चालान कर जुमार्ना वसूला

पाली सिरोही ऑनलाइन

सावर्जनिक स्थानों पर धूम्रपान करने वालों का चालान कर जुमार्ना वसूला
माह के अंतिम दिन कोटपा अधिनियम का उल्लंघन करने पर दुकानदारों का भी किया चालान

पाली। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रत्येक माह के अंतिम दिवस को नो टोबैको दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसी के चलते बुधवार को सिगरेट एवं अन्य तम्बाकु उत्पाद अधिनियम 2003 (कोटपा) के अंतगर्त उल्लंघन करने वालों का चालान काटा गया तथा उनसे जुमार्ना वसूल किया गया।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. आर.पी. मिधार् ने बताया कि बुधवार को नो टोबैको डे के उपलक्ष्य में जिला तम्बाकु नियंत्रण प्रकोष्ठ के अधिकारियों द्वारा पाली शहर में कोटपा अधिनियम की धारा 4 के अंतगर्त सावर्जनिक स्थानों पर धूम्रपान करते हुये पाये गये लोगों का चालान किया गया तथा उनसे जुमार्ना भी वसूल किया गया,

इसी प्रकार कोटपा अधिनियम का उल्लंघन करने वाले दुकानदारों का भी चालान कर उनसे भी जुमार्ना वसूल किया गया। बुधवार को जिला प्रषिक्षण केन्द्र के प्रधानाचायर् के. सी. सैनी एवं कोटपा के सलाहकार डाॅ. अंकित माथुर के दल ने पाली शहर के विभिन्न स्थानों का भ्रमण कर कोटपा अधिनियम का उल्लंघन करते पाये गये लोगों एवं दुकानदारों का चालान किया।
उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. विकास मारवाल ने बताया कि बुधवार को पाली शहर के बांगड़ चिकित्सालय, सूरजपोल, धोला चैतरा, कलैक्टरेट कायार्लय, मस्तान बाबा की दरगाह, नया बस स्टैण्ड, सब्जी मण्डी, नहर चैराहा, गांधी मतिर् चैराहा, मिलगेट, हाउसिंग बोडर् आदि क्षेत्रों में कोटपा अधिनियम का उल्लंघन करने वाले लगभग 25 लोगों के चालान बनाकर उनसे जुमार्ना वसूल किया जिसे राजकोष में जमा करवाया गया है। कायर्वाही के दौरान कोटपा दल के सदस्यों ने उल्लंघन करने वालों एवं आमजन को तम्बाकु से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी देकर तम्बाकु उत्पादों का त्याग करने बाबत उनका परामषर् भी किया गया तथा लोगों को जागरूक किया गया।
कोटपा दल के सदस्य के रूप में जिला प्रषिक्षण केन्द्र के प्रधानाचायर् के. सी. सैनी एवं जिला सलाहकार डाॅ. अंकित माथुर ने इस दौरान लोगों के छोटे छोटे समूहों में चचार् की, उन्हें तम्बाकु उत्पादों के पैकिट पर अंकित की किये गये कैंसर के फोटो दिखाकर उन्हें बताया कि तम्बाकु का उपयोग करने से कैंसर हो सकता है, तम्बाकु उत्पादों का प्रयोग करने वाले लोगों को कोरोना संक्रमण का भी अधिक खतरा बना रहता है तथा उन्हें तम्बाकु से होने वाले अन्य नुकसानों की भी जानकारी दी, इस दौरान कई लोगों से तम्बाकु उत्पादों का त्याग करने हेतु संकल्पपत्र भी भरवाये । कायर्वाही के दौरान दल के सदस्यों ने दुकानदारों को भी समझाया कि वे खुली सिगरेट या बीड़ी का विक्रय नहीं करें, क्योंकि खुली सिगरेट पर चेतावनी फोटो अंकित नहीं होते हैं, इसी प्रकार नाबालिकों को तम्बाकु उत्पादों का विक्रय नहीं करें, चेतावनी के बैनर दुकान पर लगाकर रखें, तम्बाकु उत्पादों के विज्ञापन के चित्र नहीं लगायें, उक्त सभी कोटपा अधिनियम के उल्लंघन की श्रेणी में आते हंै। कायर्वाही के दौरान दल के सदस्यों द्वारा जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु दुकानदारों एवं आमजन को मास्क लगाकर रखने, सोषियल डिस्टैन्सिंग की पालना करने एवं बार बार हाथ धोने के लिये भी लोगों की समझाईस की गई। बुधवार को हुई कायर्वाही के दौरान जिला तम्बाकु नियंत्रण प्रकोष्ठ के विजय कुमार छीपा, रेवन्त राम, आई.ईसी. समन्वयक नन्दलाल शमार् एवं सवाईसिंह भी उपस्थित रहे।