वन अधिकार मान्यता कानून का धरातल पर क्रियान्वित क्लेम फॉर्म पक्षीशन शिविर आयोजित

PALI SIROHI ONLINE

ललित वैष्णव/पिंटू अग्रवाल

गोड़वाड़ आदिवासी संगठन बाली द्वारा एक दिवसीय वन अधिकार मान्यता कानून का धरातल पर क्रियान्वित के लिए विशेष अभियान में सामुदायिक दावा कुलक फॉर्म क्लेम की तैयारी बाबत वन अधिकार समितियों के सदस्यों का प्रशिक्षण रखा गया ।

जिसमें गोरिया, भीमाना, नाना, रामपुरा कुरण, पीपला कुंडाल, बेड़ा काकराडी, वेरड़ी 13 गांवों के 103 सदस्यों ने भाग लिया ।संगठन के क्षेत्रीय समन्वयक ने बताया कि यह कानून आदिवासियों के परंपरागत हक को मान्यता देने का ऐतिहासिक कानून है इस कानून की क्रियान्वित बाबत सरकार द्वारा विशेष अभियान 9 अगस्त से शुरू हुआ जिसमें गांव स्तर पर गांव सभा करके दावे तैयार करके ग्राम सभा में अनुमोदन करके उपखंड स्तरीय कमेटी में जमा कराना है डॉ. कीर्ति जोशी सदस्य जंगल जमीन जन आंदोलन राजस्थान ने कुलक फॉर्म को कैसे भरना, क्या सबूत लगाना, क्या सावधानियां रखनी, चेक लिस्ट आदि को विस्तार से बताया प्रशिक्षण में वन अधिकार समिति के अध्यक्ष पीपला कालाराम, रोटियां विरमाराम, कोयलवाव गणेश राम, कुंडाल चोपाराम कनेरिया की नाल शांताराम, चिंगटा भाटा धूपाराम, चोप की नाल विक्रम, दिनेश पातेला, हंसाराम कुरण गला राम आदि वन अधिकार समिति के अध्यक्ष ने अपनी – अपनी बात कही वन अधिकार समिति कुरण खादरा की सदस्य फागुन बाई ने सभी समिति सदस्यों से अनुरोध किया कि आप सभी अपने – अपने सामुदायिक दावा को आदिवासी पारंपरिक अधिकार जो कानून में लिखे हैं उसके अनुसार दावा तैयार करके जमा कराएं तथा जमा की रसीद जरूर लेवे विरमाराम ने कानून को बनाने में किए गए संघर्ष का जिक्र किया तथा समापन किया ।