सुमेरपुर विधायक ने शहरी क्षेत्रों में भी मनरेगा योजना शुरू करवाने की मांग की।

सुमेरपुर विधायक ने शहरी क्षेत्रों में भी मनरेगा योजना शुरू करवाने की मांग की।


सुमेरपुर विधायक जोराराम कुमावत ने कोरोना आपदा प्रबन्धन के अन्तर्गत राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से शहरी क्षेत्र में भी मनरेगा योजना के कार्य शुरू करवाने की मांग की। सुमेरपुर विधायक जोराराम कुमावत ने बताया कि वर्तमान में कोरोना महामारी चल रही है। ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में सभी लोग लाॅकडाउन की पालना कर रहे है। प्रवासी परिवार राजस्थान में आये है, जिनमें मजदूर, नौकरीपेशा लोग] मध्यम वर्ग के लोग भी हैं। यहां रहने वाले परिवारों की भी लाॅकडाउन के कारण आर्थिक स्थिति खराब हो गई है। इन परिवारों को अपना व अपने परिवार का पालन पोषण करना मुश्किल हो गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में सरकार ने मनरेगा योजना कार्य शुरू किये है। जिससे इन प्रवासी परिवारों को रोजगार मिल रहा है। शहरी क्षेत्र मंे भी बहुत से कमजोर वर्ग के लोग मजदूर, मध्यम वर्ग, नौकरीपेशा मजदूर रहते है। शुरू शुरू में इन लोगों को राशन किट भामाशाहों व सरकार द्वारा दिये जा रहे थे। अब वो भी बन्द हो गये है। इनको आज वर्तमान में रोजगार की आवश्यकता है।
शहरी क्षेत्र में भी तालाब, नाडी, ग्रेवल सडकें नाला नालियां है] जिसे खुदाई करवाने व साफ सफाई करवाने की आवश्यकता है। कई वर्षो से शहर के तालाब, नाडी व नाला नालियों की खुदाई] साफ सफाई नही हुई है। शहर में चिवाय चक भूमि, खाली पडी आबादी भूमि व नदियों में अंग्रेजी बबूल व अन्य झाडियां उग आई है। इनकी कटाई करवाने की आवश्यकता है। साथ ही मनरेगा में शहरी क्षेत्रों में पौधारोपण कर उनको बढावा देने से कार्यो से भी विकास कार्यो को बढावा मिलेगा।
गर्मियों के मौसम के बाद बरसात के मौसम में नाला] नालियों व खाली भूमि में उगी झाडियांे से गन्दगी फैलेगी व मच्छर पैदा होंगे, जिससे मलेरिया] चिकनगुनिया या अन्य मौसमी बिमारियां फैलने की भी प्रबल सम्भावना है। मौसमी बिमारियां फैलने से कोरोना महामारी भी ज्यादा फैलने की सम्भावना है।
वर्तमान स्थिति से अवगत करवाते हुये विधायक कुमावत ने मुख्यमंत्री से शहरी क्षेत्र में भी मनरेगा योजना को लागू करवाने की मांग की, जिससे क्षेत्र के प्रवासी मजदूर] बेरोजगार लोगों को रोजगार प्राप्त हो सके, तथा शहरों में भी विकास कार्यो को बढावा मिलता रहे।