सीएमएचओ डॉ.मिर्धा के दूरगामी प्रयास सफल,मातृ शिशु पोषण दिवस पर प्रदेश के चार टॉपर में पाली जिले ने मुकाम बनाया

सीएमएचओ डॉ.मिर्धा के दूरगामी प्रयास हुए सफल,मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य पोषण दिवस पर प्रदेश के चार टॉपर में पाली ने मुकाम बनाया।

जिले के अंदर अभी भी 20% स्थानों पर लॉक डाउन और कंटेनमेंट जोन होने की वजह से टीकाकरण का कार्य शुरू नही होने के बावजूद पाली जिले ने बेहतर किया और आशा करते हैं कि जुलाई माह तक जब यह कंटेनमेंट जॉन खत्म हो जाएंगे तब राज्य में पाली जिला प्रथम आ सकेगा ।

पाली जिले में जिला चिकित्सा अधिकारी सीएमएचओ डॉ. आर. पी. मिर्धा के निदेशन में कोराना संक्रमण की रोकथाम एवं उपचार गतिविधियों के अलावा मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य सेवाओं पर भी विशेष ध्यान दिया गया। जिला चिकित्सा सीएमएचओ अधिकारी डॉ. आर. पी. मिर्धा के निदेशन में गुरुवार को मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य पोषण दिवस आयोजित कर प्रसूताओं एवं बच्चों को टीकाकरण सहित विभिन्न स्वास्थ्य सेवाएं सुचारू रूप से प्रदान की गई है।

जहा पाली जिले ने जिला चिकित्सा अधिकारी सीएमएचओ डॉ.आर. पी. मिर्धा के निदेशन में बेहतर प्रयास करते हुए प्रदेश में चौथा स्थान प्राप्त करने पर जिले के चिकित्सको और चिकित्सा कर्मचारियों में ख़ुशी और उत्साह है। पाली जिले में गुरुवार को आयोजित ‘एमसीएचएन-डे‘ के तहत गर्भवती महिलाओं और बच्चों को आवश्यक स्वास्थ्य जांच, टीकाकरण एवं परामर्श सेवाओं से लाभान्वित किया गया है। उसी का नतीजा है की पाली जिले ने जिला चिकित्सा अधिकारी सीएमएचओ डॉ.आर. पी. मिर्धा के निदेशन में पाली जिले ने उपलब्धी हासिल करते हुए प्रदेश में चौथा स्थान प्राप्त किया।

पाली जिले ने जिला चिकित्सा अधिकारी सीएमएचओ डॉ.आर. पी. मिर्धा ने गुरुवार को जिले में चल रहे
मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य पोषण दिवस के आयोजन का अवलोकन किया था और एएनएम, आशा सहयोगिनी सहित स्वास्थ्य कार्मिकों, स्वास्थ्य अधिकारियों से सीधे संवाद किया था। उन्होंने कोरोना के दौरान प्रसूताओं एवं बच्चों को टीकाकरण सहित विभिन्न स्वास्थ्य सेवाएं समुचित स्वच्छता एवं सामाजिक दूरी के नियमों की पालना करते हुए सुचारू रूप से उपलब्ध कराने पर विशेष ध्यान देने के प्रभावी निर्देश के चलते पाली जिले ने प्रदेश में चौथा स्थान प्राप्त किया।

बाली के समाजसेवक और वरिष्ठ नेता कानाराम चौधरी ने भी पाली जिले के प्रदेश में चौथा स्थान प्राप्त करने पर पाली जिला चिकित्सा अधिकारी डॉ.आर. पी. मिर्धा को बधाई देते हुए इस कामयाबी सफलता का श्रेय उनके कुचल नेतृत्व को देते हुए जिले की सम्पूर्ण चिकित्सा टीम को बधाई दी।