बाली में नाणा बेडा भन्दर सेलडा भीमाना सहित विभिन्न नदिया उफान पर,भीमाना सरपंच और बाली पूर्व प्रधान गरासिया ने नदी की पूजा कर स्वागत किया

बाली उपखण्ड की नाणा बेडा सहित विभिन्न नदिया उफान पर,

बाली। बाली उपखण्ड की नाणा बेडा सहित विभिन्न नदिया उफान पर,
आज शाम तक जवाईबांध में तेजी से होगी पानी की आवक

पाली जिले के बाली उपखण्ड के पहाड़ी क्षेत्र और सेई बांध क्षेत्र में हुई तेज भारी वर्षा के चलते जोधपुर संभाग के सबसे बड़े जल स्रोत जवाई बांध को सर्वाधिक पेयजल देने वाली बाली उपखण्ड में सुखी पड़ी विभिन्न नदीया अचानक से उफान पर आ गई।

बाली उपखण्ड में जवाईबांध की सहायक नाणा, बेडा भण्डर,सेलड़ा, भिमाना की नदिया उफान पर रही।

नाणा आमलिया रोड, भण्डर,सेलड़ा, भिमाना की नदिया पुल और रपट पर पुरे वेग से बहने से करीबन 3 घण्टे से अधिक समय तक आवागमन बन्द रहा।

नाना पुलिस थानाधिकारी भवरलाल माली ने विभिन्न बड़े नदी नालो पर पुलिस जाब्ता बढ़ाया और सभी वाहन चालको और राहगीरों से तेज वेग से बहते पानी में नही उतरने की अपील करते नजर आये।

नाना सहित विभिन्न नदिया 5 फिट उचाई के साथ तेज वेग से बह रही है।

सिचाई विभाग के सहाय्यक अभियन्ता ने बताया की तेज गती से बहती नदियो के पानी का वेग तेज है और आज शाम तक जवाई बांध में पानी की आवक शुरू हो जायेगी।

आदिवासी क्षेत्र भीमाना गाव में इस वर्ष की पहली नदी आने पर भिमाना सरपंच गुजरी देवी गरासिया और पूर्व प्रधान सामंताराम गरासिया और सरपंच प्रतिनिधि दीपाराम गरासिया की मौजूदगी में नदी की पूजा कर स्वागत किया गया