अद्भभूत और अनोखा गणेश विसर्जन,हर कोई कर रहा अर्पित और उसके साथियो की प्रंससा

अद्भभूत और अनोखा गणेश विसर्जन,हर कोई कर रहा अर्पित की प्रंससा….

नव वर्षीय नन्हा बालक अर्पित अग्रवाल और उसके साथी याशिका, दीपल, वैभव,ने ईको फ्रेंडली मिट्टी के गणेश जी की मूर्ति बनाकर पर्यावरण सुरक्षा का संदेश दिया था।

अब अर्पित अग्रवाल ने पर्यावरण के साथ वन पर्यावरण के लिए ईको फ्रेंडली मिट्टी के गणेश जी की मूर्ति नदी नाड़ी तालाब में विसर्जन करने की बजाय बालक ने घर में शुद्ध पेयजल को एक बाल्टी में लेकर उस पानी में मिटटी से बनी गणेश जी की मूर्ति का विसर्जन किया।

और उस पानी को व्यर्थ करने की बजाय अर्पित अग्रवाल ने बाल्टी में विसर्जन गणेश जी मूर्ति के पानी और मिटटी को घर प्रांगण में बने बगीचे में उस पानी को प्रवाह किया।

जिससे पौधो में उवरक शक्ति भी बढ़ेगी जिससे पौधे तेजी से बढ़ेंगे तो वन पर्यावरण प्रदूषित होते माहौल में एक अच्छा संदेश दे रहा है।